all of u r idiots.u dont know what is sarvanam.

जब हम किसी से बात करते हैं तो उसका नाम लेकर उससे बात करते हैं जैसे- 

श्याम कल क्यों नहीं आए। श्याम कल कहाँ थे? श्याम भाई का नाम क्या है। श्याम ठीक नहीं दिख रहे हो। 

हमने आपको श्याम व उसके मित्र के बीच होने वाली बातचीत दिखाई। इन वाक्यों में आपने देखा होगा की बार-बार हमने श्याम शब्द का प्रयोग किया है जो की अटपटा लगता है। हर जगह श्याम नाम का प्रयोग किया गया है। सर्वनाम शब्द इस अटपटेपन को समाप्त करने के लिए प्रयोग में लाए जाते हैं। 

देखिए कैसे- 

श्याम कल क्यों नहीं आए? तुम कल कहाँ थे? तुम्हारे भाई का नाम क्या है। तुम ठीक नहीं दिख रहे हो। 

इस गद्यांश में हमने श्याम (संज्ञा) के स्थान पर जिन शब्दों का प्रयोग किया है वह सर्वनाम शब्द कहलाते हैं। हम सर्वनाम का अर्थ लेते हैं सर्व (सबका) + नाम। 

इस आधार पर हम कह सकते हैं, जो शब्द संज्ञा (नाम) शब्दों के स्थान पर प्रयोग किए जाते हैं, सर्वनाम शब्द कहलाते हैं। 

मैं, हम, तू, तुम, अपने, तुम्हारे, आप, आपका, कोई, कौन, वही, तुमसे, जो, वह, यह वे इत्यादि शब्द सर्वनाम शब्द हैं।

  • 2
What are you looking for?