baccho ka kam par janasabse kharab panktikyon hai

मित्र हम आपको उत्तर लिखकर दे रहे हैं।

बच्चे किसी भी देश का भविष्य होते हैं। बचपन वह समय होता है, जब बालक को सबसे अधिक देखभाल की आवश्यकता होती है। वह बालक के सर्वांगीण विकास का समय होता है। बच्चे बहुत मासूम व प्यारे होते हैं। इस उम्र में उन्हें काम पर भेजना किसी त्रासदी से कम नहीं है। इस उम्र में उन्हें खेलना-कूदना तथा पढ़ना चाहिए। बच्चों का शारीरिक तथा मानसिक शोषण हमारे देश के लिए बहुत बड़े दुर्भाग्य की बात है। इस उम्र में उऩ्हें पढ़ने देना चाहिए, जिससे उनका भविष्य उज्ज्वल हो सके। हमारे देश में गरीबी के कारण अधिकतर लोग अपने बच्चों को काम पर भेजने के लिए विवश होते हैं। परंतु इस दिशा में हमें तथा सरकार दोनों को मिलकर कदम उठाने होंगे। 

  • 0
What are you looking for?