पाठ का शीर्षक भोर और बरखा क्यो रखा गया हैं ?

Hi,
प्रथम पद में ब्रज की भोर का वर्णन किया गया है और दूसरे पद में वर्षाकाल का वर्णन किया गया है। अत:इसका नाम भोर और बरखा रखा गया है। क्योंकि दोनों पदों को पाठयक्रम में एक साथ रखा गया है। इसीलिए दोनों के शीर्षकों को आपस में जोड़ दिए गए जिससे इनके साथ होने का आभास हो व यह अनुमान लगाना सरल हो की यह पद किस विषय को दर्शाते हैं।
 
मैं आशा करती हूँ की आपको आपके प्रश्न का उत्तर मिल गया होगा।
 
 ढेरों शुभकामनाएँ !

  • 1
What are you looking for?