Hindu mua ram kahi, musalman khudai. kahae kabir so jivta jo duhu ke nikati na jai. 1) uprokt dohe ke madhyam se kabir kya samajhana chahte hai? 2) Hindu aur musalmano ki kathorta kisme prakat hoti hai?

मित्र हम आपको उत्तर लिखकर दे रहे हैं। 
1) कबीर यह समझाना चाहते हैं कि हमें धर्म के नाम पर भगवान को बाँटना नहीं चाहिए। भगवान एक हैं केवल रुप भिन्न हैं। 
2) मित्र हिंदू और मुसलमानों की कट्टरता इसमें प्रकट होती है कि ये दोनों अपने-अपने भगवान को प्रमुख मानते हैं तथा उनकी आराधना करते हैं। दूसरे धर्म के ईश्वर को वे नहीं मानते। 

  • -2
What are you looking for?