In mishra sentences our teacher told second sentence is related to main sentence but not in sanukt sentences.But in MN it is opposite(mishra sentences).Please help by tommorow as I have Hindi exam on Monday.

मिश्र वाक्य- इसमें मुख्य वाक्य के साथ दूसरा उपवाक्य होता जो मुख्य उपवाक्य में आश्रित होता है। यह वाक्य व्यधिकरण समुच्चयबोधकों से जुड़े रहते हैं यह इसकी पहचान होती है जैसे- जैसा-वैसा, जो-वह, कयोंकि, यदि-तो, इसलिए, जिससे, मानो इत्यादि। यही इसकी पहचान है। जैसे- 1.) राज के चाचा की शादी है इसलिए वह नहीं आया।

2.) यदि तुम अस्पताल गए होते तो आज यह नहीं होता।

संयुक्त वाक्य- इस वाक्य में दो वाक्य समान होने के कारण आपस में जुड़े होते हैं। इसकी पहचान यह होती है की यह समानाधिकरण समुच्चबोधकों से जुड़े होते हैं; जैसे- परंतु, एव, तथा, लेकिन, वरना, बल्कि, या, और इत्यादि-

1.) खाना अभी गरम किया था और वह ठंडा भी हो गया।

2.) आप दाल खाएँगे या सब्जी। आशा करती हूँ कि अब आपको पहचानने में गलती नहीं होगी बस आप यह ध्यान रखिएगा की वाक्य किन योजकों (अव्ययों) से जुड़ा है। आपको यह याद रखना है की दोनों में समुच्चबोधक अव्यय प्रयोग होता है परन्तु दोनों में समुच्चबोधक अव्यय के अलग-अलग भेद का प्रयोग होता है। आपने जहाँ इन को याद कर लिया आपको संयुक्त व मिश्र वाक्य के बीच का भेद पता चल जाएगा।

  • 0

mishra sentence mein 1 se jyaada sentences ho jisme 1 mukhya sentence ho aur baaki sentences uspar dependent ho use mishra vaakya kahte hain.

jaise-meri kahani ki pustak,jo tumne kal padhi thi wah kahi kho gayi hai

is sentence mein "meri kahani ki pustak mukhya hai", "jo tumne padhi thi" us par dependent hai.

sayukt sentence bahut easy hai . usme hamesha conjuction hota hai.

  • 0
What are you looking for?