its urgent:nawab sahab ko thakaan ka anubhav kyu hua?

मित्र!
आपके प्रश्न के उत्तर में हम अपने विचार दे रहे हैं। आप इनकी सहायता से अपना उत्तर पूरा कर सकते हैं।

नवाब साहब ने खीरे को धोया और काटा। खीरे को काटकर उसमें नमक और लाल मिर्च बुरका। फिर लेखक को खाने को पुछा। लेखक के मना करने के बाद नवाब साहब ने खीरे की खुशबू को अपनी नाक में लेकर उसे ट्रेन से बाहर एक-एक टुकड़े को फेंक दिया। इसी प्रक्रिया में नवाब साहब को थकान का अनुभव हुआ और वह लेट गए।

  • 1
What are you looking for?