jawaharlal nahru ne sansar ko ek pustak ka darja kyo diya hai?

its urgent

क्योंकि उसमें अनगिनत कहानियाँ छिपी हुई है। इसलिए संसार को पुस्तक का दर्जा दिया गया है।

  • 0
What are you looking for?