kin vyaktiyon ko Mare Hue vyaktiyon ke Saman Rakha Hai

प्रिय मित्र!
आपके प्रश्न का उत्तर इस प्रकार है- 
 
कबीर हिंदू और मुसलमान दोनों व्यक्तियों को मरे हुए के समान माना हैं क्योंकि दोनों राम और खुदा का नाम लेकर भी अपने ईश्वर को प्राप्त नहीं कर सके क्योंकि उनके मन में प्रभु की भक्ति से ज्यादा आपसी भेदभाव और नफ़रत की भावना मौजूद थी।
 
सादर।
 
 

  • 0
What are you looking for?