kripaya is path ko vistaar se samjhaiye 

नमस्कार मित्र,
आपने पाठ का नाम नहीं दिया है। यदि आप अव्यय विषय के बारे में कह रहे हैं, तो उत्तर इस प्रकार है। अन्यथा आपसे निवेदन हैं कि पाठ का नाम अवश्य दें।

अव्यय का अर्थ है, जिसमें कोई व्यय न हो अर्थात जिन्हें बदला न जा सके या सदा एक सा रहने वाला। व्याकरण में जिन शब्दों के कभी रूप नहीं बदलते हैं, उन्हें अव्यय कहा जाता है। इन्हें अविकारी शब्द भी कहते हैं। अविकारी का अर्थ भी यही होता है, जिनमें विकार उत्पन्न नहीं किया जा सकता है। यदि ध्यान दें तो बालक विकारी शब्द होगा। हम इसे बालकों लिख सकते हैं। यह इस बात का प्रमाण है कि इसमें विकार पैदा करके इसे बदल दिया गया है। परन्तु यदि अव्यय या अविकारी शब्द होते हैं, तो उसमें इस तरह के परिवर्तन नहीं किए जा सकते हैं। जैसे- अचानक इस शब्द में आप परिवर्तन नहीं कर सकते हैं इसलिए यह अविकारी शब्द कहलाते हैं। साधारण भाषा में कहें, तो जिन शब्दों का कभी रूप नहीं बदलता है उन्हें अविकारी शब्द कहते हैं। इन शब्दों में कारक, काल, वचन, लिंग आदि के कारणों से कभी परिवर्तन नहीं आता है।
अव्यय चार प्रकार के होते हैं-क्रिया विशेषण, संबंधबोधक, समुच्चयबोधक, विस्मयादिबोधक।

अव्ययों का प्रयोग इसलिए होता है कि वाक्यों में संज्ञा शब्दों या सर्वनाम शब्दों के साथ लगकर यह उनका संबध वाक्य के अन्य शब्दों के साथ बता सकें। पर यह हर वाक्य में भी नहीं लगते; जैसे- खाना खा लो। इसमें कोई अव्यय नहीं है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इनका कुछ महत्व नहीं।  बिना इनके वाक्य अधूरा होता है; जैसे-

(1) राम के पास मेरी किताब है। (संबंधबोधक)
(2) धीरे-धीरे चला करो। (क्रिया विशेषण)
(3) राम और लक्ष्मण दो भाई थे। (समुच्चयबोधक अव्यय)
(4) पिताजी कहा करते कि समय के साथ चला करो। (के साथ -संबंधबोधक) (कि समुच्चयबोधक अव्यय)
(5) हे भगवान! रक्षा करो। (विस्मयादिबोधक)

ऊपर दिए वाक्यों में के पास, धीरे-धीरे, और, कि, के साथ, हे भगवान और भीतर आदि शब्द अव्यय हैं। यदि ये सब नहीं होते तो कल्पना करो वाक्य की क्या स्थिति होती।
अब नीचे इन्हीं वाक्यों को बिना अव्यय शब्द के देखो-

(1) राम मेरी किताब है।
(2) चला करो।
(3) राम लक्ष्मण दो भाई थे।
(4) पिताजी कहा करते समय चला करो।
(5) रक्षा करो।

आपने बिना अव्यय के इन वाक्यों को देखा होगा। इससे न तो वाक्य का भाव समझ आ रहा है और वाक्य भी अटपटा लग रहा है। अब आपको पता चल गया होगा कि वाक्य में अव्यय का प्रयोग क्यों होता है या इसकी क्या जरूरत होती है।

  • 1
What are you looking for?