अध्ययन के परिणाम
Learning out come

मित्र ,
हम आपको कुछ संदर्भ बिंदु दे रहे हैं। आप इन संदर्भ बिंदुओं की मदद से अपना प्रश्न पूरा कर सकते हैं।


'शिक्षा' शब्द का अर्थ है अध्ययन तथा ज्ञान ग्रहण करना। वर्तमान युग में शिक्षण के लिए ज्ञान, विद्या, एजूकेशन आदि अनेक पर्यायवाची शब्दों का प्रयोग होता है। शिक्षा चेतन या अचेतन रूप से मनुष्य की रूचियों समताओं, योग्यताओं और सामाजिक मूल्यों को ध्यान में रखते हुए, आवश्यकता के अनुसार स्वतंत्रता देकर उसका सर्वागींण विकास करती है। इससे अध्ययन और परिश्रम करके ही पाया जा सकात है। विद्यार्थी जितना अध्ययन करता जाता है, उतना वह उस विषय में महारत हासिल करता जाता है। अध्ययन विषय में उसे ज्ञान के साथ-साथ परिश्रम करने की दिशा में बढ़ाता है। बिना अध्ययन के किसी भी विषय को समझा नहीं जा सकता है।  जो विद्यार्थी अध्ययनशील होता है, उसे परीक्षा के समय में किसी प्रकार की समस्या नहीं आती है। लेकिन जो विद्यार्थी रटने और अध्ययन करने से जी चुराता है, वह सदैव असफलता ही प्राप्त करता है।  अध्ययन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। अध्ययन के साथ हमारा संबंध विद्यार्थीकाल से ही जुड़ जाता है। अध्ययन है, तो हम हैं। अध्ययन के महत्व के बारे में हमें विद्यार्थीकाल में ही पता चल जाता है। हमें नियमित अध्ययन करते रहना चाहिए। यदि हम समय रहते अध्ययन नहीं करेंगे, तो पीछे रह जाएँगे। तो समझ लीजिए जीवन में कभी सफलता अर्जित नहीं कर पाएँगे। समय पर किया गया अध्ययन हमारे लिए फलदायी होता है। विद्वानों ने भी अध्ययन के महत्व को समझते हुए, लगातार अध्ययन  करने की प्रेरणा दी है।

  • 1
What are you looking for?