Lekhak ne nawab sahab Ko nahi kahani ka lekhak kyu kaha hai ?

मित्र!
आपके प्रश्न के लिए हम अपने विचार दे रहे हैं। आप इनकी सहायता से अपना उत्तर पूरा कर सकते हैं।

लेखक ने नवाब साहब को नई कहानी का लेखक कहते हुए व्यंग किया है। नवाब साहब की कहानी में ना तो कोई भाव है और ना ही कोई शिक्षा है। उनकी कहानी में ना ही कोई मनोरंजन है और न ही उसमें कोई विषय या कोई उद्देश्य है। अपनी झूठी शान के लिए नवाब साहब कभी भी कुछ भी कर सकते थे। 

  • 9
Kyuki ve bina patr datna se khani likhi ja sakti ve us prakar ke lekhak he
  • -1
Isliye kaha hai kyuki nawab sahab ki harkate kuch theek si nahi thi. Aur lekhak samaj gaye the ki bina patr ,ghatna aur vichar ke koi bhi kahani nahi likhi ja sakti.
  • -1
What are you looking for?