not understanding

नमस्कार मित्र,

विशेषण शब्द- साधारण शब्दों में तो ये वस्तु, व्यक्ति या किसी स्थान की विशेषता को या दोषों को बताने वाले शब्द विशेषण शब्द कहलाते हैं।

जैसे- राम काला है।

आम मीठे हैं।

पहले वाक्य में राम का रंग काला बताया गया है। यह शब्द राम रंग के दोष को बता रहा है।दूसरे वाक्य में आम  का स्वाद बताया गया है कि वह मीठा है। मीठा आम की विशेषता (गुण) बता रहा है। अतः ये शब्द विशेषण शब्द है। 

इसी आधार पर इसके चार भेद होते हैं-१. गुणवाचक विशेषण, २. संख्यावाचक विशेषण, ३. परिमाणवाचक विशेषण, ४. सार्वनामिक विशेषण।

१. गुणवाचक विशेषण में मात्र गुण और दोष शब्दों के माध्यम से बताए जाते हैं। जैसे- लंबा, पतला, मोटा, गरम, ठंडा, अच्छा, सुंदर, बहुत, प्यारा इत्यादि।

२. संख्यावाचक विशेषण- इन शब्दों से संज्ञा या सर्वनाम की संख्या का पता चलता है ; जैसे- मेरा एक भाई है।

३. परिमाणवाचक विशेषण- इन शब्दों से संज्ञा या सर्वनाम के नाप-तोल का पता चलता है; जैसे- एक लीटर पेट्रोल देना।

४. सार्वनामिक विशेषण- सर्वनाम शब्द संज्ञा के साथ लगकर उसकी विशेषता को बताते हैं; जैसे- यह पुस्तक मेरी है। 

  • 0
What are you looking for?