Parsarg 'ne' ka kriya par prabhav bataiye.

'ने' परसर्ग क्रिया पर प्रभाव डालता है। इसके लगने से क्रिया के स्वरूप में परिवर्तन होता है। उदाहरण के लिए-
गोपाल खेल चुका है। 
'ने' परसर्ग लगने के बाद वाक्य होगा- गोपाल ने खेल लिया है।

'ने' परसर्ग लगने के बाद क्रिया 'खेल लिया' हो गई है। 
यह क्रिया के सपूर्ण पक्ष को दिखाने के लिए प्रयोग किया जाता है। 

  • 2
What are you looking for?