path ek kahani yeh bhi main lekhika mannu bhandari ka sahitya ki achi pustako se parichaya kaise hua

मित्र!
आपके प्रश्न के लिए हम अपने विचार दे रहे हैं। आप इनकी सहायता से अपना उत्तर पूरा कर सकते हैं।

सावित्री गर्ल्स हाई स्कूल की हिंदी प्राध्यापिका शीला अग्रवाल ने लेखिका का साहित्य से परिचय करवाया। लेखिका का ध्यान सब कुछ पढ़ने के स्थान पर चुनी हुई साहित्य की पुस्तकें पढ़ने पर लगाया। लेखिका जो भी साहित्य की पुस्तकें पढ़ती उन पर शीला अग्रवाल चर्चा करती। इस प्रकार लेखिका धीरे-धीरे साहित्य की दुनिया में प्रवेश कर गईं।  

  • 6
collage ki pradyapika sheela agrawal ne lekhika ko sirf jo mile wohi na padh kar 
achchi pustakon ka chunau kar padna sikhaya . isika parinam tha ki lekhika prshidh sahitykaon ki rachnao ko padhne ka ,acchi sahitya se parichit hone ka mouka mila 
 
  • 3
What are you looking for?