samanadhikaran samucchyabodhak aur vyadhikaran samucchyabodhak mein kya antar hai?

समानाधिकरण समुच्चयबोधक दो समान स्थिति रखने वाले उपवाक्यों, पदों तथा वाक्यों को समानता के कारण जोड़ता है। इसके विपरीत व्यधिकरण समुच्चयबोधक भी जोड़ने का कार्य करता है। परन्तु इसमें से एक मुख्य उपवाक्य कहलाता है और दूसरा उस पर निर्भर या आश्रित होता है। यह स्वतंत्र वाक्यों को जोड़ने का काम नहीं करता है। 

  • 3
What are you looking for?