Sangatkaar ki kyaa bhoomika ha?

संगतकार की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है, यदि वह नहीं होता, तो मुख्यगायक को गायन के बीच में थोड़ा-सा विश्राम नहीं मिलता। इससे उसका गायन प्रभावित होता और वह लोगों के आगे शर्मिन्दा हो जाता। गायन के समय संगतकार ही मुख्यगायक को कई प्रकार की विषम परिस्थितियों से निकाल लेता है।

  • -1
What are you looking for?