sankhyavachak aur parimanvachak visheshan me antar.

संख्यावाचक विशेषण तथा परिमाणवाचक विशेषण प्राय: एक जैसे लगते हैं। परन्तु इन दोनों में बहुत अंतर होता है; जैसे - यदि विशेष्य को गिना जा सके तो वह संख्यावाचक विशेषण होता है और यदि विशेष्य नापी तौली जाने वाली वस्तु हो तो वहाँ परिमाणवाचक विशेषण होता है।

उदाहरण -

(i) मेरा घर मेरे विद्यालय से दो किलोमीटर दूर है। (परिमाणवाचक विशेषण)

(ii) मेरे पास चार चाकलेट है। (संख्यावाचक विशेषण)

  • 3

sankhyavachak visheshan me kisi nishcit snakhya ka bodh hota hai

e.g : mujhe ek pen chaie.

aaj kaksha me 10 bacche hi aye the.

parimanvachak visheshan me vaha cheez anishchit hoti hai

eg: mujhe thora ata dedo .

mujhe kuch kapda lakar dedo

  • 2

sankhyavachak is related to number of sanghya or sarvanaam. But parimanvachak is related to measurements of the particular sanghya or sarvanaam. HOPETHISHELPS!!!!!!!

  • 0

din't get u shobha . thanks divya!

  • 0
What are you looking for?