ररक्तस्थानानन परू
यत |
१. खगा: अस्य ................ वसन्ति |
२. सय
ू स्व य प्रकाशॊ ................. च एनॊ ऩोषयि: |
३. अस्य छायायाॊ .................. ववश्रामॊ क

वन्वति |

४. वऺृ
ेण ववना वाय: ................
ु भवति

५. अस्य ऱघ

रूऩॊ ................. भवति

प्रिय छात्र 
अभी हम केवल हिंदी में सहायता प्रदान करने में सक्षम होंगे, इसलिए हम आपसे अनुरोध करते हैं कि आप अपनी क्वेरी को हिन्दी भाषा में फिर से पोस्ट करें, हालांकि आप केयर मेरिटनेशन कॉम पर पहुंच सकते हैं या आगे की सहायता के लिए 01140705050 पर कॉल कर सकते हैं।
सादर
 

  • 0
What are you looking for?