Shahnai ka kartab shuruhone lgta hai...... yahan se saajo ki katarme sartaj ho gyiii.... tk... explain kr dijiye

मित्र इस पंक्ति में लेखक ने शहनाई के विषय में बताया है कि शहनाई शुरू होते ही पूरा वातावरण सुरीला हो जाता है। बिस्मिला की फूँक अजान के समान सुनाई देती है। और देखते ही देखते पूरा साज शुरू हो जाता है। 

  • 1
What are you looking for?