shrimati sharma tatha falwale ke beech fal khareedne sambandhi sanvad

मित्र!
 हम आपको आरंभ करके दे रहे हैं। कृपया आप स्वयं पूरा करने का प्रयास करें-


 श्रीमती शर्मा- भैया! मुझे दो किलो आम और दो किलो लीची दे दो।
​ फल वाला- अभी देता हूँ।
श्रीमती शर्मा- अरे! ये क्या आप इस ईंट से क्यों तौल रहे हैं?
फल वाला- मेम साहब! ये ईंट तो आधा किलो का है। मैं आधा किलो इसी से तौलता हूँ।
श्रीमती शर्मा- ये गलत है। आप अभी, जो सरकार ने मानक बाट बनाएँ है, उससे सारे समान को तोलिए।
फल वाला- अच्छा! गलती हो गई। मैं अभी उससे आपके सारे फल तौलता हूँ।
श्रीमती शर्मा- हाँ और ये ईंटें तथा पत्थर अभी फेंक दो, नहीं तो मैं तुम्हारी शिकायत कर दूँगी।
​दुकानदार- मैडम ऐसा मत कीजिए। मैं आज के बाद ऐसा कुछ नहीं करूँगा।......................


 

  • -2
What are you looking for?