surdas aur dev ke padon mein se alankar chant kr likhiye. 

मित्र पाठ में आए सारे अलंकार के विषय में देना संभव नहीं है। हम आपको सूरदास पाठ के पहले पद से अलंकार ढूँढकर दे रहे हैं। बाकी को आप स्वयं ढूँढिए। इससे आपका अच्छा अभ्यास होगा।
पुरइनि पात, ज्यौं जल मैं अनुप्रास अलंकार है।
प्रीति-नदी में रूपक अलंकार है।
 

  • 0
please give it fast
 
  • 1
What are you looking for?