What is the difference between uttam purushvachaksarvanamand nijvachak sarvanam. Please explain with help of examples.

मित्र पुरुषवाचक सर्वनाम समस्त प्राणी को दर्शाते हैं। जैसे वह कल आएगा। वह किसी व्यक्ति को दर्शा रहा है। अतः ये पुरुषवाचक सर्वनाम है। इसके अतिरिक्त निजवाचक सर्वनाम का संबंध केवल अपने आप से है। जैसे मैं अपने आप जाऊँगा। इसमें अपने आप निज को दर्शाने के कारण निजवाचक सर्वनाम हैं।

  • 0
What are you looking for?