Select Board & Class

Login
Anurag & 4 others asked a question
Subject: Hindi, asked on on 14/12/14
Dhruvil Jain asked a question
Subject: Hindi, asked on on 22/11/09
asifmadinah... asked a question
Subject: Hindi, asked on on 14/1/11
Khushi asked a question
Subject: Hindi, asked on on 10/2/15
Abdul Jabbar asked a question
Subject: Hindi, asked on on 8/11/13
Suryansh Singh asked a question
Subject: Hindi, asked on on 28/11/17
Meenal Mishra & 1 other asked a question
Subject: Hindi, asked on on 24/10/12
Navya Sharma asked a question
Subject: Hindi, asked on on 12/3/15
Ritika Srivastava asked a question
Subject: Hindi, asked on on 14/2/17
Do Not Call Do Not Call asked a question
Subject: Hindi, asked on on 18/11/13
Nidhi Pokhriyal asked a question
Subject: Hindi, asked on on 11/11/13
Ritika Srivastava asked a question
Subject: Hindi, asked on on 14/2/17
Aditya Singh asked a question
Subject: Hindi, asked on on 16/12/13
Jahnavi Tiwari asked a question
Subject: Hindi, asked on on 28/8/13
Vaishnavi asked a question
Subject: Hindi, asked on on 12/1/14
Sanvi Bhatia asked a question
Subject: Hindi, asked on on 28/2/17
Police asked a question
Subject: Hindi, asked on on 14/10/13
Nikhil Raj asked a question
Subject: Hindi, asked on on 27/11/16
Ceema Yadav asked a question
Subject: Hindi, asked on on 8/11/13
Anusri Misra asked a question
Subject: Hindi, asked on on 6/10/10
Shubhangi asked a question
Subject: Hindi, asked on on 24/11/16
Khushi asked a question
Subject: Hindi, asked on on 10/2/15
Kiran Gowda asked a question
Subject: Hindi, asked on on 20/3/11
Sanskar Bhagowati asked a question
Subject: Hindi, asked on on 2/11/13
Yogesh Singh asked a question
Subject: Hindi, asked on on 29/6/10

अगर मुझे इन चीज़ों को छूने भर से इतनी खुशी मिलती है, तो उनकी सुंदरता देखकर तो मेरा मन मुग्ध ही हो जाएगा।

ऊपर रेखांकित संज्ञाएँ क्रमश: किसी भाव और किसी की विशेषता के बारे में बता रही हैं। ऐसी संज्ञाएँ भाववाचक कहलाती हैं। गुण और भाव के अलावा भाववाचक संज्ञाओं का संबंध किसी की दशा और किसी कार्य से भी होता है। भाववाचक संज्ञा की पहचान यह है कि इससे जुड़े शब्दों को हम सिर्फ़ महसूस कर सकते हैं, देख या छू नहीं सकते। नीचे लिखी भाववाचक संज्ञाओं को पढ़ो और समझो। इनमें से कुछ शब्द संज्ञा और कुछ क्रिया से बने हैं। उन्हें भी पहचानकर लिखो-

मिठास

भूख

शांति

भोलापन

बुढ़ापा

घबराहट

बहाव

फुर्ती

ताज़गी

क्रोध

मज़दूरी

 
Hacker Hamza asked a question
Subject: Hindi, asked on on 21/5/20
Alshifa asked a question
Subject: Hindi, asked on on 7/10/20
Lee Teo asked a question
Subject: Hindi, asked on on 12/9/16

अगर मुझे इन चीज़ों को छूने भर से इतनी खुशी मिलती है, तो उनकी सुंदरता देखकर तो मेरा मन मुग्ध ही हो जाएगा।

ऊपर रेखांकित संज्ञाएँ क्रमश: किसी भाव और किसी की विशेषता के बारे में बता रही हैं। ऐसी संज्ञाएँ भाववाचक कहलाती हैं। गुण और भाव के अलावा भाववाचक संज्ञाओं का संबंध किसी की दशा और किसी कार्य से भी होता है। भाववाचक संज्ञा की पहचान यह है कि इससे जुड़े शब्दों को हम सिर्फ़ महसूस कर सकते हैं, देख या छू नहीं सकते। नीचे लिखी भाववाचक संज्ञाओं को पढ़ो और समझो। इनमें से कुछ शब्द संज्ञा और कुछ क्रिया से बने हैं। उन्हें भी पहचानकर लिखो-

मिठास

भूख

शांति

भोलापन

बुढ़ापा

घबराहट

बहाव

फुर्ती

ताज़गी

क्रोध

मज़दूरी

 
What are you looking for?

Syllabus