Ashukumar , asked a question
Subject: Hindi , asked on 31/10/12

5 poems on seasons of india in hindi

Himanshu Sharma , added an answer, on 20/1/13
8 helpful votes in Hindi

 here is one झुक गईं शाखाएँ स्वागत में तुम्हारे।
आ गई वर्षा हमारे आज द्वारे।।

बुझ गई प्यासी धरा की है पिपासा,
छँट गई व्याकुल हृदय से अब निराशा,
एक अरसे बाद आयी हैं फुहारे।
आ गई वर्षा हमारे आज द्वारे।।

धान के पौधों को जीवन मिल गया है,
धूप से झुलसा चमन अब खिल गया है,
पर्वतों पर गा रहे हैं गान धारे।
आ गई वर्षा हमारे आज द्वारे।।


पंचमी पर नाग-पूजा रंग लाई,
आसमानों में घटा घनघोर छाई,
बह रही पुरवाई की शीतल बयारे।
आ गई वर्षा हमारे आज द्वारे।।



  • Was this answer helpful?
  • 8
79% users found this answer helpful.
View More

What are you looking for?

Syllabus