"Main ghar jaati hun."

Iss sentence ka pad-parichay de.

मित्र पद-परिचय वाक्य में आए एक पद का पूछा जाता है। सारे पदों का परिचय नहीं दिया जाता है। परन्तु आपकी सहायता के लिए हम इन सबका परिचय दे रहे हैं-

मैं घर जाता हूँ।

मैं- सर्वनाम, पुरुषवाचक, प्रथम, पुल्लिंग, एकवचन कर्ता कारक।

घर- संज्ञा, जातिवाचक, पुल्लिंग, एकवचन।

जाती हूँ- क्रिया, सकर्मक, स्त्रीलिंग, एकवचन।

  • 1

Main = KARTA KARAK, NIJVACHAK SARVANAM

Ghar= KARM KARAK, "JANA" KRIYA KA KARM

Jaati hun= KRIYA, VARTMAN KAL BODHAK

HOPES THIS HELP:) THUMBS UP....PLZZ....

  • -1
What are you looking for?