You are using an out dated version of Google Chrome.  Some features may not work correctly. Upgrade to the  Latest version     Dismiss

Select Board & Class

Login

संज्ञा और संज्ञा के विकारक तत्व

संज्ञा और संज्ञा के प्रकार

किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान, गुण अथवा भाव के नाम का बोध कराने वाले शब्दों को संज्ञा कहते हैं; जैसे -

व्यक्ति - हरीश, राम, गीता आदि।

स्थान - दिल्ली, जयपुर, ओखला आदि।

वस्तु - सेब, मेज़, पुस्तक आदि।

गुण - ईमानदारी, बुरा, कठोर।

भाव - बुढ़ापा, मित्रता, मिठास।

संज्ञा तीन प्रकार के होते हैं :-

1. व्यक्तिवाचक संज्ञा

2. जातिवाचक संज्ञा

3. भाववाचक संज्ञा

1. व्यक्तिवाचक संज्ञा :- किसी विशेष व्यक्ति, स्थान अथवा वस्तु के नाम को व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं; जैसे - राम, श्याम, मोहन, दिल्ली, भारत आदि। यहाँ राम, श्याम तथा मोहन - व्यक्ति के नाम हैं, दिल्ली तथा भारत - स्थान के नाम हैं और शेर - पशु को सम्बोधित करता है, इसीलिए ये व्यक्तिवाचक संज्ञा हैं। इसी प्रकार फल, विभिन्न नदियों तथा पहाड़ों के नाम भी व्यक्तिवाचक संज्ञा ही हैं।

2. जातिवाचक संज्ञा:- जो संज्ञा शब्द किसी जाति विशेष का बोध कराते हैं; जैसे -

(i) नगर जाति का

(ii) नदियों की जाति का

(iii) जानवर जाति का

(iv) मनुष्य जाति का

अत: नगर, कुर्सी, पहाड़, नदी, सभा, स्त्री आदि शब्द एक पूरी जाति का बोध कराते हैं। इसलिए ये जातिवाचक संज्ञा हैं। ( यदि किसी शहर, नदी अथवा व्यक्ति का नाम हो तो वहाँ व्यक्तिवाचक है, जातिवाचक संज्ञा नहीं।) जातिवाचक संज्ञा को दो वर्गों में रखा जा सकता है -

(i) समूहवाचक संज्ञा :- जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट है कि ऐसे शब्द जो किसी विशेष समूह, झुंड अथवा समुदाय का बोध कराए, उसे समूहवाचक संज्ञा कहते है; जैसे - भीड़, छात्र, पुलिस, लड़के, बच्चे आदि।

(ii) द्रव्यवाचक (पदार्थवाचक) संज्ञा :- जिन शब्दों से किसी द्रव्य अथवा धातुओं के नाम का बोध हो, उसे द्रव्यवाचक संज्ञा कहते है; जैसे - सोना, चाँदी, पीतल, दाल, चावल, पानी, तेल आदि।

3. भाववाचक संज्ञा :- किसी भी प्रकार के भाव, गुण अथवा क्रिया के नाम को भाववाचक संज्ञा कहते है; जैसे - ईमानदारी, पाण्डित्य, कोमल, कठोर, मीठा, दु:खी, खुश आदि।

भाववाचक संज्ञाओं का निर्माण :- भाववाचक संज्ञा के शब्दों का निर्माण निम्नलिखित तत्वों से होता है -

1. जातिवाचक संज्ञाओं से

2. सर्वनाम से

3. विशेषण से

4. क्रिया से

1. जातिवाचक संज्ञाओं से भाववाचक संज्ञाओं का निर्माण -

1.

गरीब

=

गरीबी

2.

धन

=

धनी

3.

बुद्धि

=

बुद्धिमान

4.

मूर्ख

=

मूर्खता

5.

पशु

=

पशुता

6.

बचपन

=

बचपना

7.

बूढ़ा

=

बुढ़ापा

2. सर्वनाम शब्दों से भाववाचक संज्ञाओं का निर्माण -

1.

मम

=

ममता

2.

स्व

=

स्वयं

3.

सर्व

=

सर्वथा

4.

अपना

=

अपनापन

5.

प्रधान

=

प्रधानता

6.

मुख्य

=

मुख्यता

3. विशेषण शब्दों से भाववाचक संज्ञाओं का निर्माण -

1.

कोमल

=

कोमलता

2.

कठोर

=

कठोरता

3.

अच्छा

=

अच्छाई

4.

बुरा

=

बुराई

5.

ऊँचा

=

ऊचाई

6.

नीचा

=

नीचता

7.

मोटा

=

मोटापा

8.

चिकना

=

चिकनाहट

9.

साफ़

=

सफ़ाई

10.

गंदा

=

गंदगी

To view the complete topic, please

What are you looking for?

Syllabus